रविवार, 28 अप्रैल 2019

दुल्हिन गंगा पार के भोजपुरी फ़िल्म

दुल्हिन गंगा पार के यह फ़िल्म एक पारिवारिक फ़िल्म हैं जिसे हम साथ में बैठ कर देख सकते हैं ये फ़िल्म यशी म्यूजिक के ऑफिशयल अकाउंट पर अपलोड किया गया हैं। फ़िल्म के निर्देशक और लेखक असलम शेख की निर्देशन में बनी फिल्म दुल्हिन गंगा पार  फ़िल्म में भोजपुरिया संस्कार देखने को मिलता हैं । फ़िल्म परिवारिक होने के नाते घर और समाज के रीत - रिवाज  को बहुत अच्छे और व्यस्थित ढंग से प्रस्तुत किया गया हैं। फ़िल्म में एक्शन के साथ कॉमेडी का भी भरपूर उपयोग किया गया हैं कही - कही इमोशनल भी करती हैं फ़िल्म फ़िल्म के गाने लगभग सभी गाने हिट हैं । फ़िल्म की बात करे तो ये फ़िल्म एक छोटी बच्ची कृति (कृति यादव) के ऊपर बना गया हैं कृति के बचपन मे ही  माँ और पापा के मौत हो जाती हैं कृति अपने चाचा कृष्णा (खेसारी लाल यादव)  को ही पापा मानती हैं  खेसारी लाल अपने एक्शन और गानों की वजह छाए रहे । कृति के दिल मे छेद रहता हैं
कृष्णा नही चाहता उसे कोई दिक्कत हो इसी लिए उसकी हर मनोकामना पूरा करता हैं लेकिन एक दिन कृति अपने मम्मी के बारे में पूछती हैं तो कृष्णा उसे एक कहानी सुना देता हैं  और  कि तुम्हारी मम्मी गंगा के धाम गयी हैं जल्दी आ जायेगी । कृति गंगा के तीरे रोज अपनी माँ का इंतजार करती एक दिन गंगा में एक औरत बह कर आती हैं राधा (काजल राघवानी) को ही कृति अपनी माँ समझ लेती हैं और उसे आने घर ले आती हैं कृष्णा और राधा की शादी को जाती हैं फ़िल्म में बीच - बीच में  गानों का आना लगा रहता हैं । फ़िल्म के विलन  अवधेश मिश्रा जो राघा के प्यार में पागल हैं वो राघा से शादी करता करना चाहता हैं । उसी के चलते फ़िल्म में एक्शन होता हैं । हर फिल्म की तरह इस फ़िल्म में भी हैप्पी एन्ड होता जाता हैं ।

फ़िल्म घर परिवार में होने वाला संस्कार को भी दिखया गया हैं कि बड़ो को किस तरह इज्जत देनी चाहिए ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें